एलोवेरा (घृतकुमारी) के फायदे।।


  • वजन कम करने में।
  • त्वचा को नमी युक्त एवं निखारने मे।
  • त्वचा की कील मुहांसों की समस्या को दूर करने में।
  • पेट की समस्या मे।
  • मधुमेह में उपयोगी एलोवेरा।
  • कोलेस्ट्रोल कम करने में।
  • गठिया रोग में फायदेमंद।
  • बालों के लिए फायदेमंद एलोवेरा।

एलोवेरा का पौधा तो सभी ने देखा ही होगा। एलोवेरा का पौधा दिखता बड़ा छोटा है। इसके पत्ते मोटे गद्देदार होते हैं। इसके किनारों पर हल्के कांटे होते हैं एलोवेरा के पत्तो मे ही एलोवेरा जैल भरा हुआ होता है जिसका उपयोग हम सामान्य तौर पर करते हैं।भारत के अलग-अलग देशों में एलोवेरा की कई प्रजातियां पाई जाती है।मुख्यता दो प्रजातियों का चिकित्सा में विशेष तौर पर प्रयोग किया जाता है। आयुर्वेद में एलोवेरा अथवा कृत कुमारी के रूप में महंतम औषधी का दर्जा प्राप्त है इसकी 200 जातियां पाई जाती है परंतु कुछ ही प्रजातिया मानव शरीर के लिए उपयोगी है।


वजन कम करने में एलोवेरा के फायदे।।

एलोवेरा का जूस वजन कम करने में कारगर सिद्ध हो सकता है। एलोवेरा का जूस सामान्य एक्सरसाइज के बाद रोज सुबह एक गिलास पानी के साथ एलोवेरा का जूस कुछ बूंदे नींबू के रस की तथा एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से वजन कम करने मैं अत्यंत लाभदायक होता है। साबुत एलोवेरा का जूस पीना कठिन है,क्योंकि यह स्वाद में बहुत ही ज्यादा कड़वा होता है।परंतु यह शरीर के बहुत से रोगों को जड़ से समाप्त कर देता है।

त्वचा में निखार एवं नमी के लिए फायदेमंद एलोवेरा का इस्तेमाल।


एलोवेरा एक बहुत अच्छे क्लींजर का काम करता है।यह त्वचा की ऊपरी सतह पर मौजूद गंदगी और डेड सेल्स को साफ करने में मदद करता है।जिससे चेहरे पर निखार तो आता ही है, साथ साथ आपकी स्किन भी नरम तथा नमी युक्त हो जाते हैं। एलोवेरा त्वचा को पोषण देने का काम करता है।यह बहुत अच्छा मोशुराइजर भी होता है। किसी भी टाइप की स्कीम के लोग एलोवेरा का इस्तेमाल कर सकते हैं। यदि किसी व्यक्ति को एलोवेरा जेल से एलर्जी हो, ध्यान रखते हुए ही इसका इस्तेमाल करना चाहिए।

कील मुहांसों की समस्या में एलोवेरा।।


एलोवेरा कील मुहांसों से राहत दिलाने में भी बहुत कारगर होता है। एलोवेरा का जेल नियमित रूप से अपने फेस पर सुबह-शाम फेस धोने के बाद लगाने से कील मुहांसों की समस्या से भी छुटकारा पाया जा सकता है।चेहरे पर दाग धब्बे,झाइयां, झुर्रियां, पिंपल्स, रिंकल्स आदि भी दूर हो जाते हैं तथा यह स्किन को साफ करने का काम करता है। यह एक बेस्ट और नेचुरल एंटी एजिंग प्रोडक्ट है।आजकल इसका इस्तेमाल आम तौर पर महिलाएं फैस वॉश के रूप में करते ही है।एलोवेरा के कई प्रोडक्ट मार्केट में उपलब्ध है।जिनका इस्तेमाल करके स्कीन को निखारा, ब्राइट शाइनी,और यंग बनाया जा सकता है।

पेट की समस्याओं मे फायदेमंद। ।


कब्ज,पेट दर्द, पेट पर सुजन आदि परेशानियों से राहत दिलाने में एलोवेरा उपयोगी होता हैं। हम पेट में तकलीफ होने पर तरह-तरह की दवाइयों का सेवन करते हैं।जिस के दुष्प्रभाव भी हमें देखने को मिलते हैं। ऐसे में अगर प्राकृतिक चीजों का सेवन करके हम इन छोटी-छोटी बीमारियों का समाधान कर सके तो हमें प्राकृतिक चीजों की तरफ ही अग्रसर होना चाहिए एवं उन्हीं का सेवन करना चाहिए। किसी व्यक्ति को कब्ज अथवा पेट मे सामान्य प्रकार की परेशानी हो तो एलोवेरा का सेवन करने से काफी हद तक आराम मिलता है। एलोवेरा मे लैक्टिक गुण मौजूद होते हैं इसलिए विशेषज्ञ कब्ज ,पेट दर्द ,पेट पर सूजन आदि समस्याओं में एलोवेरा के सेवन की सलाह देते हैं यह पेट को साफ करने में मददगार होता है।

मधुमेह में मधुमेह में उपयोगी एलोवेरा।।


एलोवेरा(घृतकुमारी) मधुमेह में भी लाभकारी होती है। डायबिटीज के रोगियों के लिए एलोवेरा बहुत उपयोगी साबित हो सकता है। एलोवेरा का सेवन करने से टाइप टू डायबिटीज से ग्रस्त मरीज का ब्लड शुगर लेवल कुछ हद तक संतुलित हो सकता है एलोवेरा का anti-diabetic गुण मधुमेह में प्रभाव कारी होता है।

कोलेस्ट्रॉल को कम करने में फायदेमंद।।


एलोवेरा का सेवन करने से कोलेस्ट्रोल भी काफी हद तक कम किया जा सकता है। एलोवेरा के सेवन से न सिर्फ एंटी ऑक्सीडेटिवस्ट्रेस कम हो सकता है बल्कि लीवर कोलेस्ट्रोल भी कम हो सकता है।इसके अलावा एलोवेरा में मौजूद हाइपोक्रोमिक प्रभाव कोलेस्ट्रोल को कम करने में सहायक होता है।कोलेस्ट्रोल को कम करने के लिए एलोवेरा के जूस का प्रतिदिन नियमित रूप से सुबह- सुबह खाली पेट सेवन करना असरदार होता है।

घटिया रोग में एलोवेरा के औषधि गुण से फायदे।।


अधिक वजन ,संक्रमण ,बढ़ती उम्र या अन्य कई कारणों से गठिया रोग हो सकता है।ऐसे में समय रहते इस पर ध्यान देकर अपना उपचार करना जरूरी है। गठिया के उपाय में एलोवेरा भी लाभकारी औषधि के रूप में काम कर सकता है। एक अध्ययन के मुताबिक यह ओस्टियोआर्थराइटिस के इलाज में असरदार है एलोवेरा में anti-inflammatory गुण मौजूद होने के कारण इसका उपयोग जोड़ों के दर्द में फायदेमंद होता है।यदि किसी व्यक्ति को गठिया रोग की समस्या है तो उसे एलोवेरा का इस्तेमाल करना चाहिए।

बालों के लिए वरदान एलोवेरा जेल।।


एलोवेरा जेल एलोवेरा के पत्तों का इस्तेमाल हम बालों को Healthy और स्ट्रांग बनाने के लिए तथा उन्हें लंबे-घने चमकदार बनाने के लिए कर सकते हैं बालों को स्वस्थ रखने के लिए एलोवेरा बहुत लाभकारी होता है। दरअसल बालों को स्वस्थ रखने एवं उन्हें झड़ने से रोकने के लिए एलोवेरा को हर्बल मेहंदी नैचुरल डाइ के गुण मौजूद होते हैं। हम एलोवेरा के पत्तों या जेल को डायरेक्ट भी अपने स्कैल्प पर लगा सकते हैं हम मेहंदी,नारियल के तेल, सरसो तेल,आवला तेल में एलोवेरा जेल को मिक्स करके अपनी स्कैल्प पर धीरे-धीरे हाथों से लगाने से बालों की बहुत सी समस्याओं से छुटकारा मिलता है। और बाल लंबे घने एवं मजबूत बनते हैं। एलोवेरा बालों में होने वाले रूसी या डैंड्रफ की समस्या को भी दूर करने में असरदार होता है एलोवेरा जैल में कुछ मात्रा में कपूर टुकड़े डालकर उसे नारियल तेल मिलाकर इस मिश्रण को अपने सिर पर धीरे-धीरे लगाने से रूसी की समस्या से छुटकारा मिलता है।