किशमिश खाने से होने वाले फायदे।।

  1. खून की कमी को कम करने में मददगार किशमिश।।
  2. पाचन शक्ति बढ़ाने में मददगार किशमिश।।
  3. डायबिटीज मे फायदेमंद।।
  4. कैंसर से बचाव में किशमिश ।।
  5. मजबूत हड्डियो के लिए किशमिश का सेवन।
  6. आंखों को स्वस्थ बनाए रखने में ।।
  7. त्वचा की खूबसूरती बढ़ाने में मददगार किशमिश।।
  8. हृदय रोगियों के लिए फायदेमंद किशमिश के गुण।।
  9. दातों के लिए के लाभकारी किशमिश का सेवन।
  10. संक्रमण से बचाने में मददगार किशमिश।।

सर्दियों में किशमिश खाना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। इसमें बहुत सारे ऐसे गुण पाए जाते हैं जो सर्दियों में होने वाले वायरल इन्फेक्शन से बचाने में मददगार होते हैं। बादाम,अखरोट,किशमिश,काजू जैसे ड्राई फ्रूट्स अगर मुट्ठी भर खा ले तो दिन भर का पोषण आपको आसानी से मिल जाता है। किशमिश खाने के बहुत सारे लाभ हैं।किशमिश खाने का सही तरीका यह है कि रात को पानी में किशमिश भिगोकर रख दें। और सुबह तक किशमिश फूल जाने पर उसका सेवन करें। यहीं इसके सेवन का सबसे अच्छा तरीका है।भीगे हुए किशमिश में आयरन,पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम और फाइबर भरपूर मात्रा में मौजूद होता है इसके अलावा इसमें कुछ मात्रा मे नेचुरल शुगर भी होती है।जो हमारे शरीर को नुकसान नहीं पहुंचाती है। हाई ब्लड प्रेशर के लिए भी यह सबसे अधिक फायदेमंद साबित होता है। यह ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है। और इसमें पाए जाने वाला पोटेशियम तत्व हाइपरटेंशन से बचाव करता है। इसे भिगोकर खाने से इसकी तासीर ठंडी हो जाती है।जिन लोगों को शरीर में गर्मी की वजह से मुंह के छालों की प्रॉब्लम रहती है उन्हें किशमिश को भिगोकर ही इसका सेवन करना चाहिए। किशमिश को खाने से और इसके पानी को पीने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।इसमें एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है। जो इम्यूनिटी को भी बढ़ाता है । किशमिश का खट्टा मीठा स्वाद हर डिश को स्पेशल बना देता है। किशमिश खाने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसके नियमित सेवन से शरीर में खून की कमी नहीं होती। यह वजन घटाने में मददगार है। एनर्जी लेवल को बूस्ट करने और विटामिन सी की आवश्यकता को पूरा करने में मददगार है।

खून की कमी को कम करने में मददगार किशमिश।।


एनीमिया का एक कारण शरीर में आयरन की कमी होना भी है।इस समस्या में शरीर में पर्याप्त मात्रा में लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण नहीं होता।जिससे शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई कम मिलती है। किशमिश को आयरन का एक समृद्ध स्रोत माना जाता है। और इसलिए आहार में किशमिश का सेवन आवश्यक है। माना जाता है! किशमिश में आयरन अधिक मात्रा में पाया जाता है इसलिए यह एनीमिया से भी बचाव करता है।

पाचन शक्ति में मददगार किशमिश।।


किशमिश पाचन शक्ति को मजबूत करने में भी मददगार होते हैं। पाचन की समस्या से निजात पाने के लिए हर रोज भीगे हुए किशमिश खाने से जल्द ही इस समस्या से छुटकारा मिलता है। पाचन् मे मदद मिलती है।

डायबिटीज मे फायदेमंद।।


कई डायबिटीज से ग्रसित लोग किशमिश का सेवन नहीं कर सकते। लेकिन ऐसा नहीं है यह जानकर शायद आपको हैरानी होगी! कि सीमित मात्रा में किशमिश का सेवन मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। किशमिश में प्राकृतिक शर्करा भरपूर मात्रा में पाई जाती है। जो आपके शरीर में ऊर्जा का संचार करने के साथ ही वजन बढ़ाने में भी मददगार होती है।कमजोर लोगों के लिए किशमिश का सेवन फायदेमंद होता है। किशमिश मे ग्लाइसेमिकइंडेक्स कम होता है।जिस कारण यह इंसुलिन रिस्पांस को बेहतर करने में मदद कर सकती है। इससे मधुमेह रोग नियंत्रित करने में मदद मिलती है। ग्लाइसेमिक इंडेक्स एक मापक होता है जो यह बताता है कि खाद्य पदार्थ कितनी तेजी से ब्लड शुगर को बढ़ाता बढ़ा रहा है। कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थ ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं जिसका अच्छा उदाहरण किशमिश भी हो सकता है।

कैंसर से बचाव में किशमिश ।।


किशमिश के गुण कैंसर जैसी घातक बीमारियों से बचाने में भी मददगार साबित होते हैं। एनसीबीआई के एक शोध के अनुसार किशमिश में एंटी रेडिकल और कैंसर प्रीवेंटिव गुण पाए जाते हैं।जो कैंसर से बचाव में कुछ हद तक मददगार हो सकते हैं।वही किशमिश कैंसर के अन्य प्रकारों से भी बचाव में मदद करती है इसलिए कैंसर से पीड़ित व्यक्तियों को इस के सेवन की सलाह दी जाती है।

मजबूत हड्डियो के लिए किशमिश का सेवन।।


किशमिश का सेवन हड्डियों और जोड़ों के लिए भी बहुत फायदेमंद साबित होता है। इसमें पोटेशियम और कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। इससे ओस्टियोपोरोसिस का खतरा भी कम हो जाता है।

आंखों को स्वस्थ बनाए रखने में ।।


किशमिश का सेवन आंखों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। यह आंखों को कई रोगों से बचाता है। इसके सेवन से नेत्र शक्ति को बढ़ाने में मदद मिलती है। किशमिश में विटामिन बी कंपलेक्स,सेलेनियम,आयरन के अलावा कई सारे एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं जो आंखों की रोशनी बढ़ाने में मदद करते हैं। इसलिए रोजाना कम से कम पांच किशमिश खाना ही चाहिए। किशमिश में मौजूद विटामिन ए beta-carotene एंटी ऑक्सीडेंट,आंखों की मांसपेशियों को कमजोर होने से बचाते हैं।साथ ही साथ आंखों की समस्याओं से निजात दिलाने में भी मददगार साबित होते हैं।

त्वचा की खूबसूरती बढ़ाने में मददगार किशमिश।।


अंगूर से बने प्रोडक्ट स्किन के लिए फायदेमंद होते हैं। और किशमिश भी अंगूर के जरिए ही बनाया गया होता है किशमिश के अंदर कीमो प्रोटेक्टिव गुण होते हैं। जो स्किन कैंसर तक से लड़ने में सक्षम हैं किशमिश को नेचुरल स्किन टोनर भी माना गया है।रोजाना किशमिश का सेवन करते रहने से स्किन बेहतर होती है किशमिश त्वचा को खूबसूरत बनाए रखने में मददगार होती है इसका सेवन करने से चेहरे की झुर्रियां ,दाग धब्बे दूर होते हैं और स्किन का ग्लो भी बढ़ाती है स्किन को सुंदर चमकदार और स्वस्थ, तंदुरुस्त रखने में मदद करती है ।

हृदय रोगियों के लिए फायदेमंद किशमिश के गुण।।


किशमिश के अंदर कई ऐसे तत्व मौजूद होते जो ह्रदय को सुरक्षित और दुरुस्त रख सकते हैं।हृदय रोग से बचने में भी किशमिश फायदेमंद है। किशमिश का सेवन खराब कोलेस्ट्रॉल यानी एलडीएल ओर ट्राइग्लिसराइड को कम कर सकता हैं।जिससे कोलेस्ट्रोल की वजह से होने वाले रोगों के जोखिम से बचा जा सकता है। इसलिए हृदय रोग से बचाव के लिए किशमिश का सेवन काफी हद तक फायदेमंद होता है।

दातों के लिए के लाभकारी किशमिश का सेवन


दांतों की समस्या से निपटने के लिए लोग अक्सर कई उपायों को अपनाते हैं इन उपायों में एक किशमिश का सेवन । किशमिश के अंदर फाइटोकेमिकल्स एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है किशमिश में मौजूद ये तत्व दातों में होने वाली कैविटी को रोकने में मदद करते हैं। किशमिश मे अन्य कई ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो आंखों से लेकर दांतों और मुंह तक के लिए सेहतमंद साबित होते हैं।

संक्रमण से बचाने में मददगार किशमिश।।


संक्रमण में किशमिश का सेवन मददगार होता है। किशमिश के अंदर ऐसे बहुत से पोषक तत्व पाए जाते हैं जो कई तरह के संक्रमण से बचाने में मदद करते हैं। किशमिश के अंदर पाए जाने वाले तत्व एंटीमाइक्रोबियल्स एवं एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होते है।इसके अलावा किशमिश संक्रमण पैदा करने वाले विषाणुओं को खत्म करने में मदद करता है इस तरह किशमिश संक्रमण को दूर करने में भी मदद करता है।