शहद के इस्तेमाल से होने वाले फायदे।।


शहद का उपयोग प्राचीन काल से ही होता आ रहा है । और शहद से होने वाले फायदों के बारे में भी आयुर्वेद में प्रमुखता से उल्लेख मिलता है। शहद मधुमक्खियों द्वारा फूलों के रस से बनाया जाता है, जो कि एक तरल पदार्थ होता है। इसमें मधुमक्खियों द्वारा कई चरणों में काफी लंबी प्रक्रिया के बाद इस शहर को तैयार किया जाता है। आयुर्वेद में शहद को एक औषधीय का दर्जा हासिल है,और न केवल भारत अपितु संपूर्ण विश्व में लोग मिठास के लिए शहद का इस्तेमाल करना पसंद करते हैं। पिछले कुछ दशकों में शहद पर हुए कई वैज्ञानिक शोधों के अनुसार आयुर्वेद में बताए गए शहद के गुण की पुष्टि भी की गई। शहद का उपयोग आप किस किसी भी रूप में करें यह आपकी सेहत के लिए उतने ही फायदेमंद है। बस इसके इस्तेमाल से पहले आप यह जरूर जांच लें कि उपयोग में लाया जा रहा शायद असली है, या कोई मिलावट युक्त शहद है,क्योंकि मिलावटी शहद खाने से सेहत को कई नुकसान हो सकते हैं! शहद की क्वालिटी को लेकर लोग हमेशा असमंजस में रहते हैं।असली शहद काफी गाढ़ा होता है,और पानी में डालने पर यह आसानी से पानी में नहीं खुलता बल्कि तली में जम जाता है जबकि नकली शहद पानी में जल्दी ही खुल जाता है हालांकि शहद की शुद्धता जांचने का यह कोई निश्चित पैमाना नहीं है ।

शहद में पाए जाने वाले पोषक तत्व औषधीय गुणों से भरपूर।।


शहद हमारे शरीर के लिए आवश्यक खनिज विटामिन एवं पोषक तत्व का पक्का एक भरपूर भंडार है इसमें कार्बोहाइड्रेट्स, राइबोफ्लेविननाइस, विटामिन बी6, विटामिन सी और अमीनो एसिड्स भी मौजूद होते हैं। एक चम्मच शहद में लगभग 64 कैलोरी और 17 ग्राम शुगर होता है। शहद में फैट फाइबर बिल्कुल भी नहीं होता है

शहद के औषधीय गुणों की बात करें तो यह अनगिनत बीमारियों के इलाज में उपयोगी मानी जाती है। यही कारण है ,कि प्राचीन काल से ही शहर को औषधि के रूप में उपयोग किया गया है। आज के समय में मुख्य रूप से लोग त्वचा के निखार के लिए ,पाचन क्रिया को ठीक ठाक रखने एवं इम्यूनिटी पावर को बढ़ाने के लिए शहद का इस्तेमाल खासिया तौर पर करते हैं, साथ ही साथ वजन कम करने में शहद का इस्तेमाल एक आम बात हो गई है।इसके अलावा शहर में एंटी बैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण भी मौजूद होते हैं,जिसकी वजह से घाव को भरने या चोट से जल्दी आराम दिलाने में भी शहद बहुत ही कारगर है। अक्सर कई लोग हल्दी और शहद का उपयोग कर कफ और खांसी को दूर करने में करते हैं।

पेट से जुड़ी समस्याओं के लिए फायदेमंद शहद ।।


पेट से जुड़ी समस्याओं में भी शहद राहत प्रदान करता है । पेट से जुड़ी कई समस्याओं की मूल जड़ कब्ज है पचान किया का ठीक से नहीं होना।शरीर में शर्करा के अवशोषण को कम करती है, शहद का उपयोग कब्ज को दूर करने में करते हैं।कब्ज से आराम दिलाने के अलावा शहद पेट फूलने और गैस की समस्या से भी आराम दिलाता है। रोजाना रात में सोने से पहले एक गिलास हल्के गुनगुने पानी हल्के गुनगुने दूध में एक चम्मच शहद मिलाकर सेवन करें करने से कब्ज एवम पेट की समस्या में राहत मिलती है। साथ ही यह समस्या हमेशा के लिए खत्म हो जाती है।

रक्त शोधन में फायदेमंद है शहद ।।।


रक्त के संचरन के लिए भी शहद फायदेमंद होता है। शरीर पर अलग-अलग तरह से असर डालता है । शहद को गुनगुने पानी में मिलाकर पिया जाए तो,उसका खून में लाल रक्त कोशिकाओं आरबीसी की संख्या पर लाभदायक असर पड़ता है ,लाल रक्त कोशिकाएं मुख्य रूप से शरीर के विभिन्न अंगों तक खून में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करती है शहद और गुनगुने पानी का मिश्रण खून में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाता है, जिससे एनीमिया खून की कमी की स्थिति में लाभ होता है आयरन की कमी यानी एनीमिया की स्थिति तब आती है जब आहार में लोह तत्व की लोह तत्व को कम मात्रा में सेवन किया जाता है। या शरीर उसे पर्याप्त रूप से रोक नहीं पाता। इससे रक्त की ऑक्सीजन पहुंचाने की क्षमता प्रभावित होती है। ऑक्सीजन ले जाने की क्षमता कम होने से थकान, सांस फूलना और कई बार उदासी और दूसरी समस्याएं होती है। शहद रक्त संबंधित इन समस्याओं को कम करने में मददगार साबित होता है खासकर महिलाओं को इस मामले में खास ख्याल रखने की जरूरत है।

चीनी से ज्यादा महत्वपूर्ण है शहद।।।


शहद मानव शरीर पर सफेद चीनी के हानिकारक प्रभाव के बारे में तो सभी जानते हैं। चीनी के विकल्प के रूप में शहद उसका एक अच्छा विकल्प हो सकता है,जो चीनी के जितना ही मीठा होता है, मगर उसका सेवन चीनी जितना हानिकारक नहीं होता है,हालांकि शहद के दार्शनिक तत्वों में भी सिंपल शुगर होती है मगर वह सफेद चीनी से काफी भिन्न होती है,

सर्दी जुकाम खांसी आदि से आराम शहद के द्वारा।।।


अगर आपकी खांसी कई दिनों से ठीक नहीं हो रही है,तो शहद का इस्तेमाल करके आप अपनी खांसी,सर्दी और जुकाम जैसी समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं। यह खांसी और जुकाम से आराम दिलाने में भी एक असरदार घरेलू औषधि है। शहद में मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण संक्रमण को और बढ़ाने से रोकते हैं साथ ही यह कफ को पतला करता है। जिससे कफ आसानी से बाहर निकल जाता है ।खासतौर पर जो लोग सुखी खांसी से परेशान हैं उन्हें शहद से जल्द ही आराम मिलता है रात को सोने से पहले हल्के गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर उसे पिया जाए तो बलगम को की समस्या भी दूर होती है साथ ही साथ खांसी से जल्दी आराम होता है।