Covid-19 कोरोनावायरस बचने के लिए रखें यह सावधानियां है जरूरी।।

कोरोनावायरस आज न केवल केवल भारत में बल्कि संपूर्ण विश्व में आतंक की फैलाए हुए हैं। इसने हमारे दैनिक जीवन की साधारण क्रियाकलापों की भी परिभाषा ही बदल कर रख दी है। कोरोना का प्रकोप लगातार बढ़ रहा हैं। आज हम स्वतंत्र रूप से सांस तक नहीं ले सकते कहीं आने-जाने की आजादी तो दूर की बात है। हम घर पर भी सुरक्षित है या नहीं इस बात की भी पुष्टि हम स्वयं नहीं कर सकते । कब,किस समय,किसके माध्यम से और किस रूप में यह घातक वायरस हमारे घर अथवा हमारे शरीर में प्रवेश कर जाए इसकी कल्पना हमारी सोच से परे है। परंतु इस लाइलाज बीमारी से निपटने का सिर्फ एक ही संभव इलाज है,और वह इस बीमारी से खुद का बचाव इससे जितना हो सके दूर रहने की कोशिश ही हमें इस बीमारी से होने वाले दुष्प्रभाव से बचा सकती है। कोरोनावायरस से बचने का एकमात्र संभव इलाज सावधानी बनाए रखना है। कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव के लिए घर से लेकर स्कूल,कॉलेज,ऑफिस के साथ-साथ साफ सफाई रखने और सावधानी बरतने की आवश्यकता है। अमेरिकी स्वास्थ्य संस्था रोग नियंत्रण एवं निवारण केंद्र के अनुसार सुरक्षा की शुरुआत अपने घर से करें, सबसे पहले अपने घर को वायरस से निपटने के लिए तैयार करें। बच्चों को सकारात्मक रखें।

घर से बाहर निकलने से पूर्व फेस मास्क का इस्तेमाल करें यदि फेस मास्क का सही ढंग से इस्तेमाल नहीं किया जाए तो उसका इस्तेमाल व्यर्थ है फेस मास्क को अच्छी तरह अपनी नाक तक ढक कर रखें

कोरोनावायरस से बचने के लिए मुख्य सावधानियां

1:- समय-समय पर अपने हाथों को सैनिटाइज करते रहे तथा किसी भी अनावश्यक वस्तु को न छुएं खासकर सार्वजनिक स्थानों पर किसी भी वस्तु को न छुएं, ना ही किसी भी स्थान पर पर कूड़ा कचरा न फेंके।

2:- यदि किसी व्यक्ति अथवा मरीज से शारीरिक दूरी बनाना संभव ना हो तो फेस मास्क का इस्तेमाल करना अत्यंत आवश्यक है ऐसे में फेस मास्क को बार-बार अपने नाक से गर्दन पर नहीं करना चाहिए,ऐसा करने पर मास्क का इस्तेमाल करना व्यर्थ है।

3:- सार्वजनिक स्थान पर खांसने या छींकने वाले व्यक्ति से उचित दूरी बनाकर रखें।

4:-आंख नाक एवं मुंह को बार-बार न छुए।

5:- यदि आपके परिवार का कोई व्यक्ति या स्वयं अस्वस्थ महसूस करें तो कृपया परिवार के दूसरे लोगों से उचित दूरी बना कर रहे हैं। स्वयं को आइसोलेट करें साथ ही साथ डॉक्टर से संपर्क करें।

6:- यदि किसी व्यक्ति को बुखार खांसी जुकाम सर्दी एवं सांस लेने में परेशानी हो रही हो,तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें एवं उचित सावधानियां बरतें।

7:- घर में तथा घर के आसपास साफ-सफाई का नियमित रूप से ध्यान रखना चाहिए।तथा कूड़ा करकट इत्यादि को कूड़ेदान में फेंकना चाहिए,जिससे किसी भी प्रकार की बीमारी के फैलने का खतरा न रहे।

8:- कोरोनावायरस से बचाव के लिए सैनिटाइजर के अलावा पानी और साबुन का इस्तेमाल करते हुए हाथों को 20 सेकंड तक रगड़ कर साफ़ करें। खाने से पहले और खाने के बाद, शौचालय के इस्तेमाल के बाद साबुन से हाथ अवश्य धोए। ऐसे हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल भी करें जिनमें कम से कम 60 फ़ीसदी तक अल्कोहल की मात्रा उपस्थित हो। कोरोनावायरस के लक्षणों में न्यूमोनिया के लक्षण पाए जाते हैं।कोरोनावायरस संक्रमित लोगों को खांसी,बुखार और सांस लेने जैसी समस्याएं होती है। कोरोनावायरस मामलों में ऑर्गन फेल भी हो सकते हैं। कोरोनावायरस निमोनिया है,इसलिए एंटीबायोटिक्स भी इस पर असरदार साबित नहीं होते तथा कई लोगों की मृत्यु हो जाती है।

9:- नियमित योगाभ्यास एवं शारीरिक व्यायाम के माध्यम से खुद को स्वस्थ एवं तंदुरुस्त रखा जा सकता है। अतः अपने शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए शारीरिक व्यायाम एवं योगा अभ्यास इत्यादि को नियमित रूप से करना चाहिए।

10:- शरीर की एनर्जी बढ़ाने के लिए औषधि गुणों से भरपूर चीजों का इस्तेमाल करना चाहिए।जिसमें अदरक, तुलसी, लोंग,गिलोय,अश्वगंधा,मुलेठी,हल्दी,लहसुन, शहद आदि शामिल है। 

11:- शरीर में पानी की कमी होने से बचे तथा प्रतिदिन कम से कम कम 3 से 4 लीटर तक पानी अवश्य पिये।