#covid-19 कोरोना से बचाव में अदरक है बहुत उपयोगी

#SARScovid-19

#Coronavirus #novelcoronavirus #WHO

आयुष मंत्रालय द्वारा जारी किए गए कोरोनावायरस से बचाव के दिशानिर्देशों में अदरक ,काली मिर्च, लॉन्ग, तुलसी इत्यादि का काढ़ा बनाकर पीने की सलाह दी गई है। ऐसा इसलिए कहा गया है । क्योंकि अदरक एक औषधि रूप में काम ली जाती है। तथा इसमें कई प्रकार के औषधि गुण मौजूद होते हैं जो कि हमारे इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग बनाते हैं तथा कोरोनावायरस से लड़ने में हमारे शरीर को मदद करते हैं।

आज केवल भारत ही नहीं बल्कि पूरा विश्व कोरोनावायरस की वजह से पीड़ित है। कई देश तो ऐसे हैं जहां आज भी मास्क सैनिटाइजर जैसी मूल वस्तुओं का अभाव है। ऐसे में वहां वैक्सीन की उपलब्धता होना तो बहुत दूर की बात है। ना केवल अदरक अपितु बहुत सी औषधियां हमारे आसपास मौजूद है जो हमें वर्तमान समय में होने वाली घातक बीमारियों से बचाने में लाभदायक हो सकती हैं। जिनका इस्तेमाल करके हम ना केवल बीमारियों से खुद को बचा सकते हैं , बल्कि मस्तिष्क की बुद्धिमता ,चुस्ती फुर्ती एवं शारीरिक क्षमता को भी बढ़ा सकते हैं। प्रकृति ने हमें बहुत सी ऐसी चीजें प्रदान की है जिनका इस्तेमाल हम हमारे दैनिक जीवन में कर सकते हैं। संपूर्ण भारतवर्ष में अदरक की खेती की जाती है।अदरक की खेती प्रचुर मात्रा में की जाती है भूमि के अंदर उगने वाला सामान्य तौर पर पर अदरक व सुखी अवस्था में सोंठ कहलाता है। प्राचीन आर्य ग्रंथों में इसका उल्लेख कई स्थानों पर पाया जाता है। इतना ही नहीं प्रायः प्रत्येक औषधीय चूर्ण में अदरक का इस्तेमाल एक महत्वपूर्ण औषधि के रूप में किया जाता है। अदरक का इस्तेमाल सामान्य तौर पर हम शीत ऋतु के समय चाय में डालकर पीने में करते हैं जो कि एक औषधि के रूप में कार्य करता है। तथा हमें गर्मी प्रदान करता है अदरक से होने वाले फायदे अद्भुत एवं आश्चर्यजनक है।

वैज्ञानिकों ने अदरक को पाचन तंत्र, ह्रदय रोग, संक्रमण, माइग्रेन जोड़ों का दर्द, कैंसर इत्यादि विभिन्न प्रकारों के रोगों में उपचार के लिए लाभकारी बताया है।अदरक के प्रभाव से रक्त प्लेटलेट्स कोशिकाओं का चिपचिपापन कम हो जाता है। जिससे रक्त में थक्का बनने की संभावना कम हो जाती है। फल स्वरुप अनेक रोगों जैसे ह्रदय आघात, स्ट्रोक,पक्षपात इत्यादि से बचाव किया जा सकता है।कोलेस्ट्रोल युक्त भोजन के बाद भी अदरक के सेवन से कुछ हद तक कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम किया जा सकता है । जापान तथा यूरोपीय देशों में अदरक पर किये गए शोधों से पता चला है कि अदरक शरीर में कुछ खास किस्म के रसायन का निर्माण करता है।जो न सिर्फ कुदरती तौर पर घाव के ठीक होने में मदद करते हैं। बल्कि शरीर में इम्यून सिस्टम को भी बल प्रदान करते हैं घर में आसानी से मिलने वाला अदरक हमारे जीवन में आनेवाले लाखों दुखों की दवा है। आयुर्वेद में भी अदरक का काफी महत्व बताया गया है रोजाना अदरक का सेवन करते रहने से हमारे शरीर में कई बड़े बदलाव देखे जा सकते हैं।किसी भी रूप में अदरक का इस्तेमाल यदि नियमित रूप से किया जाए तो हम स्वत: ही इससे होने वाले फर्क को अनुभव करेंगे। अदरक पोषक तत्व और बायो एक्टिव योगीको से भरपूर है।


1 अदरक के इस्तेमाल से कैंसर जैसी भयानक बीमारी से बचाव किया जा सकता है।यह कैंसर पैदा करने वाले सेल्स को खत्म करता है।एक शोध के हिसाब से अदरक स्तन कैंसर पैदा करने वाले सेल्स को बढ़ने से रोकता है तथा कैंसर जैसी समस्याओं को होने से हमारे शरीर को बचाता है।

2 अदरक का सेवन रक्त को पतला करने का एक अच्छा तरीका है। इसीलिए अदरक के सेवन से ब्लड प्रेशर हाई जैसी समस्या से बचा जा सकता है।तथा यदि किसी व्यक्ति को ब्लड प्रेशर की समस्या है तो वह नियमित अदरक के सेवन से कुछ हद तक इस समस्या से निजात पा सकता है।

3 अदरक के जूस में सूजन को कम करने की शक्ति अत्यधिक मात्रा में होती है यह उन लोगों के लिए वरदान की तरह कार्य करता है जो जोड़ों के दर्द और सूजन की समस्या से परेशान है। एक अध्ययन के मुताबिक जो लोग अदरक के जूस का उपयोग नियमित तौर पर करते हैं अन्यथा अदरक की चाय का इस्तेमाल करते हैं उन्हें जोड़ों में सूजन और दर्द पैदा करने वाली बीमारियां कम परेशान करती है अदरक के जूस में एंटीऑक्सीडेंट तत्व मौजूद होते हैं।जो शरीर में ताजे रक्त के प्रवाह को बढ़ाने में कारगर होते हैं क्योंकि अदरक में खून को साफ करने का एक विशेष गुण पाया जाता है।।

4 यदि किसी व्यक्ति को सर्दी अथवा जुकाम हो गया हो तो अदरक का काढा सर्दी के इलाज में एक असरदार औषधि के रूप में कार्य करता है यह सर्दी पैदा करने वाले बैक्टीरिया और वायरस को खत्म करता है। कोरोना वायरस से बचने के लिए भी आयुष मंत्रालय द्वारा घरेलू औषधि रूप में अदरक,तुलसी,काली मिर्च, लोंग,गुड़ आदि का नियमित इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है। उक्त चीजों का काढ़ा बनाकर नियमित इस्तेमाल करने से शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाया जा सकता है तथा कोरोनावायरस जैसी बीमारियों से स्वयं की रक्षा की जा सकती है।

5 त्वचा से जुड़ी हुई किसी भी प्रकार की समस्या से छुटकारा पाने में अदरक के जूस का इस्तेमाल लाभदायक होता है अदरक के जूस से चेहरे पर होने वाले एक्ने, पिंपल्स, मुंहासे,दाग धब्बों इत्यादि से हमेशा के लिए निजात पाया जा सकता है। परंतु अदरक के जूस का इस्तेमाल सीधे तौर पर मुंह पर नहीं करना चाहिए अन्यथा यह स्किन बर्न की प्रॉब्लम भी देखी जा सकती है।

6 चर्म रोग या त्वचा संबंधी किसी भी प्रकार की बीमारी में अदरक के जूस का इस्तेमाल किया जा सकता है अदरक के जूस के इस्तेमाल से दाद,खाज खुजली इत्यादि से भी निजात पाया जा सकता है।

7 अदरक एक शक्तिशाली जीवाणु नाशक भी होता है। अदरक बड़ी आत में पाए जाने वाले बैक्टीरिया का बढ़ना रोक देता है। इस में विद्यमान गुण के कारण कैंसर से भी बचाव किया जा सकता है। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं ।अदरक मे कई ऐसे कंपाउंड योगिक होते हैं जो अलग-अलग ढंग से अपना अच्छा प्रभाव हमारे शरीर पर डालते हैं।